यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में करेंट अफेयर्स MCQs क्विज़ : 10, सितंबर 2022


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स MCQ क्विज़

(Daily Current Affairs MCQs Quiz for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, MPPSC, BPSC, RPSC & All State PSC Exams)

तारीख (Date): 10, सितंबर 2022


प्रश्न 1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिएः

1. बिजली भारतीय संविधान की संघ सूची का विषय है।
2. सीईआरसी विद्युत अधिनियम 2003 के तहत कार्यरत एक वैधानिक निकाय है ।

नीचे दिए गए सही विकल्प का चयन करें:

a. केवल 1
b. केवल 2
c. दोनों 1 और 2
d. न तो 1 और न ही 2

उत्तर: (B)

व्याख्या:

  • बिजली भारतीय संविधान की समवर्ती सूची का विषय है।
  • सीईआरसी विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 76 के तहत कार्यरत एक वैधानिक निकाय है।

प्रश्न 2. भारत में राजकोषीय संघवाद के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

1. राज्य 62 प्रतिशत से अधिक व्यय की जिम्मेदारी वहन करते हैं लेकिन उन्हें राजस्व जुटाने की शक्ति का केवल 37 प्रतिशत ही दिया जाता है।
2. केंद्र सरकार के पास अपनी व्यय जिम्मेदारियों का 38 प्रतिशत खर्च करने के लिए 63 प्रतिशत राजस्व जुटाने की शक्ति है।
3. उपकरों और अधिभारों का हिस्सा दोगुने से अधिक हो गया है।
4. 2015 से केंद्र पर कर्ज का बोझ 53 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 136 लाख करोड़ रुपये हो गया है।

नीचे दिए गए सही विकल्प का चयन करें:

a. 1, 2 और 3
b. 1, 2 और 4
c. 2 , 3 और 4
d. 1, 2,3 और 4

उत्तर: (D)

व्याख्या:

  • 15वें वित्त आयोग के अनुसार, राज्य 62 प्रतिशत से अधिक व्यय की जिम्मेदारी वहन करते हैं लेकिन उन्हें राजस्व जुटाने की शक्ति का केवल 37 प्रतिशत ही दिया जाता है।
  • जबकि केंद्र सरकार के पास अपनी व्यय जिम्मेदारियों का 38 प्रतिशत खर्च करने के लिए 63 प्रतिशत राजस्व जुटाने की शक्ति प्राप्त है।
  • उपकर और अधिभार की हिस्सेदारी दोगुनी से अधिक हो गई है - 2010-11 में 6.26 प्रतिशत से बढ़कर 2021-22 में लगभग 20 प्रतिशत हो गई ।
  • पिछले दो लगातार वित्त आयोगों के सकल करों में राज्यों की हिस्सेदारी 40 प्रतिशत से अधिक होने के बावजूद, वास्तविक हस्तांतरण इस निर्धारित स्तर तक कभी नहीं पहुंचा।
  • वित्त वर्ष 2019 में पीक 36.6 फीसदी था और बाद में यह घटकर 29 फीसदी रह गया।
  • 2015 से केंद्र पर कर्ज का बोझ 53 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 136 लाख करोड़ रुपये हो गया है।
  • राजकोषीय घाटे के मोर्चे और बजट से इतर उधारी पर केंद्र का रिकॉर्ड और भी खराब है।

प्रश्न 3. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिएः

1. अल्पसंख्यक समुदाय की पहचान का विषय संघ सूची में है।
2. केंद्र और राज्य सरकारें अल्पसंख्यक समुदायों की अलग-अलग सूचियां बना सकती हैं।
3. किसी भी राज्य ने अभी तक पृथक अल्पसंख्यक समुदाय को अधिसूचित नहीं किया है।
4. अल्पसंख्यक शिक्षण संस्थान को सरकार से कोई सहायता नहीं मिलती है।

ऊपर दिए गए कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A. केवल 1 और 2
B. केवल 2
C. केवल 2 और 4
D. केवल 1 और 4

उत्तर: (C)

व्याख्या:

  • अल्पसंख्यक समुदाय की पहचान का विषय समवर्ती सूची में है।
  • इस प्रकार, केंद्र और राज्य सरकार दोनों के पास अल्पसंख्यक समुदायों की अलग-अलग सूचियां हो सकती हैं।
  • महाराष्ट्र ने जुलाई 2016 में महाराष्ट्र के भीतर 'यहूदियों' को अल्पसंख्यक समुदाय के रूप में अधिसूचित किया है।
  • इस तरह के संस्थान सरकार से सहायता प्राप्त करते हैं जैसा कि कला 30 में प्रदान किया गया है

प्रश्न 4. सरोगेट विज्ञापनों के संबंध में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है?

1. यह विज्ञापन का एक रूप है जहां ब्रांड अन्य उत्पादों के प्रच्छन्न विज्ञापनों के माध्यम से सिगरेट और अल्कोहल जैसे विनियमित उत्पादों को बढ़ावा देते हैं।
2. यह भ्रामक विज्ञापनों की रोकथाम और भ्रामक विज्ञापनों के समर्थन के लिए दिशानिर्देश, 2022 द्वारा विनियमित है।

नीचे दिए गए कूट में से सही विकल्प चुनिए।

A. केवल 1
B. केवल 2
C. 1 और 2 दोनों
D. न तो 1 और न ही 2

उत्तर: (C)

प्रश्न 5. राष्ट्रीय खेलों के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें ।

1. अंतिम राष्ट्रीय खेल 2019 में गोवा में आयोजित किये गए थे।
2. 36 वें राष्ट्रीय खेल में 2 नये खेल मलखम्ब और योगासन शामिल किए गए हैं ।

उपरोक्त में से कौन से कथन सत्य है / हैं ?

A. केवल 1
B. केवल 2
C. 1 और 2 दोनों
D. न तो 1 न ही 2

उत्तर: (B)

व्याख्या:

  • 36वें राष्ट्रीय खेल, जिसकी थीम ‘खेल से एकता का उत्सव’ (सेलिब्रेटिंग यूनिटी थ्रू स्पोर्ट्स) है, सात साल के अंतराल के बाद आयोजित किए जा रहे हैं और 29 सितंबर से 12 अक्टूबर तक चलेंगे।
  • गुजरात के कम से कम छह शहर - अहमदाबाद, गांधीनगर, सूरत, वडोदरा, राजकोट और भावनगर - मेजबान की भूमिका में होंगे।
  • नई दिल्ली ट्रैक साइक्लिंग स्पर्धा की मेजबानी करेगा।
  • मल्लखंब और योगासन जैसे स्वदेशी खेल भी पहली बार राष्ट्रीय खेलों में शामिल होंगे। इससे पहले 2015 में केरल में खेल आयोजित किए गए थे।

प्रश्न 6. वी ओ चिदंबरम पिल्लई के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें ।

1. उन्होंने 1905 के बंगाल विभाजन के बाद स्वदेशी आंदोलन को मद्रास में सफल बनाने में भूमिका निभाई थी।
2. उन्होंने स्वदेशी आंदोलन के दौरान स्वदेशी स्टीम नेविगेशन कंपनी के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
3 . उन्होंने स्वदेशी संगम नामक संगठन को भी स्थापित किया था।

उपरोक्त में से कौन सा / से कथन सत्य हैं ?

A. केवल 1 और 2
B. केवल 2 और 3
C. केवल 1 और 3
D. 1 , 2 और 3

उत्तर: (D)

व्याख्या:

  • स्वतंत्रता सेनानी वी ओ चिदंबरम पिल्लई का जन्म 5 सितंबर , 1872 को तमिलनाडु के तिरुनेलवेली जिले में हुआ था।
  • उन्होंने तूतीकोरिन से ग्रेजुएशन की पढ़ाई की , उन्होंने कानून की पढ़ाई की थी।
  • लाल बाल पाल के स्वदेशी आंदोलन को मद्रास में फैलाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी। वो रामकृष्ण मिशन से भी संबद्ध हुए थे।
  • उन्होंने स्वदेशी प्रचार सभा का गठन किया था। गांधी जी के चंपारण सत्याग्रह के दौरान चिदंबरम पिल्लई ने मद्रास में मजदूर वर्ग के हितों के लिए वैसे ही तत्परता से काम किया था जैसे गांधी जी ने बिहार में किया था।

प्रश्न 7. हाल ही में केंद्र सरकार ने एक विशेष मातृत्व अवकाश की घोषणा की है। यह अवकाश कितने दिन के लिए दिया जाएगा?

A. 30 दिन
B. 40 दिन
C. 50 दिन
D. 60 दिन

उत्तर: (D)

व्याख्या: बीते 2 सितम्बर को केन्द्र सरकार के कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने सभी महिला कर्मचारियों को साठ दिन का विशेष अवकाश देने की घोषणा की। यह अवकाश शिशु के जन्म के तुरंत बाद या प्रसव के दौरान मृत्यु हो जाने के मामलों में दिया जाएगा। कार्मिक लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय ने बताया कि शिशु के जन्म से पहले ही या जन्म के तुरंत बाद मृत्यु की मानसिक पीडा को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। सरकार के मुताबिक ऐसे मामलों में माता के जीवन पर दूरगामी प्रभाव पडता है। मंत्रालय के आदेश में कहा गया है कि शिशु के जन्म होने के तुरंत बाद या 28 दिन के भीतर मृत्यु हो जाती है तो माता विशेष मातृत्व अवकाश का पात्र होगी। यदि 28 सप्ताह या उसके बाद शिशु की गर्भ में मृत्यु हो जाती है तो भी माता को यह विशेष अवकाश मिलेगा। मंत्रालय के आदेश में यह भी कहा गया है कि विशेष मातृत्व अवकाश केन्द्र सरकार की उन्हीं महिला कर्मचारियों को मिलेगा जिनके दो से कम जीवित बच्चे हैं और प्रसव किसी अधिकृत अस्पताल में हुआ हो।