यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में करेंट अफेयर्स MCQs क्विज़ : 04, जुलाई 2023


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स MCQ क्विज़

(Daily Current Affairs MCQs Quiz for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, MPPSC, BPSC, RPSC & All State PSC Exams)

तारीख (Date): 05, जुलाई 2023


1. निम्नलिखित राज्यों पर विचार कीजिए:

1. गुजरात
2. महाराष्ट्र
3. राजस्थान
4. कर्नाटक
5. असम
6. केरल

उपर्युक्त में से कितने राज्य राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन के अंतर्गत हैं?

(a) केवल तीन
(b) केवल चार
(c) केवल पाँच
(d) सभी छह

उत्तर: (D)

व्याख्या:

  • राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन भारत में मुख्य रूप से आदिवासी आबादी के बीच सिकल सेल रोग से उत्पन्न स्वास्थ्य चुनौतियों का समाधान करने के लिए शुरू किया गया एक कार्यक्रम है। इसकी घोषणा केंद्रीय बजट 2023 में की गई थी और इसका लक्ष्य 2047 तक सिकल सेल आनुवंशिक संचरण को खत्म करना है।
  • यह कार्यक्रम गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, असम, उत्तर प्रदेश, केरल, बिहार और उत्तराखंड सहित 17 उच्च-फोकस राज्यों में लागू किया जाएगा।

2. राजनीतिक दलों के खातों की ऑनलाइन फाइलिंग के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:

1. चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों के लिए अपने वित्तीय खाते ऑनलाइन दर्ज करने के लिए एक वेब पोर्टल पेश किया है।
2. राजनीतिक दलों को केवल चुनाव आयोग/राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को योगदान रिपोर्ट जमा करने की आवश्यकता होती है।

उपर्युक्त दिए गए कथनों में से कौन सा/से सही है/हैं?

(a) केवल 1
(b) केवल 2
(c) 1 और 2 दोनों
(d) न तो 1, न ही 2

उत्तर: (C)

व्याख्या:

  • चुनाव आयोग ने वास्तव में राजनीतिक दलों के लिए अपने वित्तीय खाते ऑनलाइन दर्ज करने के लिए एक वेब पोर्टल पेश किया है। इस पहल का उद्देश्य प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करना और इसे और अधिक कुशल बनाना है। वेब पोर्टल का उपयोग करके, राजनीतिक दल अपने वित्तीय खाते इलेक्ट्रॉनिक रूप से चुनाव आयोग को प्रस्तुत कर सकते हैं। अतः कथन 1 सही है।
  • राजनीतिक दलों को चुनाव आयोग/राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को योगदान रिपोर्ट प्रस्तुत करना आवश्यक है। ये रिपोर्टें राजनीतिक दलों द्वारा प्राप्त योगदान का विवरण, स्रोत और राशि सहित प्रदान करती हैं। यह आवश्यकता राजनीतिक दलों के वित्तपोषण में पारदर्शिता और जवाबदेही सुनिश्चित करने में मदद करती है। अतः कथन 2 सही है।

3. हाल ही में, "लालच मुद्रास्फीति" की घटना और अर्थव्यवस्था पर इसके संभावित प्रभाव पर चिंता बढ़ रही है। लालच का मुद्रास्फीति पर क्या प्रभाव पड़ता है?

(a) यह अपस्फीति दबाव में योगदान देता है।
(b) इससे मुद्रास्फीति दर स्थिर हो जाती है।
(c) यह मुद्रास्फीति के दबाव में योगदान कर सकता है।
(d) इसका मुद्रास्फीति पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

उत्तर: (C)

व्याख्या:

  • लालच मुद्रास्फीति उस घटना को संदर्भित करती है जहां कंपनियां लाभ-प्राप्ति के उद्देश्यों से प्रेरित होकर वास्तविक उत्पादन लागत या बाजार की मांग से परे कीमतें बढ़ाती हैं।
  • लेख में कहा गया है कि लालच मुद्रास्फीति किसी अर्थव्यवस्था में मुद्रास्फीति के दबाव में योगदान कर सकती है क्योंकि उत्पादन लागत या मांग में वृद्धि के बिना कीमतें बढ़ती हैं। लालच मुद्रास्फीति अपस्फीति दबाव से जुड़ा नहीं है,

4. eSARAS मोबाइल ऐप के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:

1. इसे भारत में ग्रामीण विकास मंत्रालय (MoRD) द्वारा लॉन्च किया गया है।
2. यह स्वयं सहायता समूहों (SHG) में महिलाओं द्वारा बनाए गए उत्पादों के विपणन के लिए एक ई-कॉमर्स मंच है।
3. इस ऐप के कार्यान्वयन के लिए फाउंडेशन फॉर डेवलपमेंट ऑफ रूरल वैल्यू चेन्स (FDRVC) जिम्मेदार है।

उपर्युक्त दिए गए कथनों में से कितने सही हैं?

(a) केवल एक
(b) केवल दो
(c) सभी तीन
(d) कोई भी नहीं

उत्तर: (C)

व्याख्या:

  • हाल ही में, नई दिल्ली में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार के सचिव द्वारा eSARAS मोबाइल ऐप लॉन्च किया गया। अतः कथन 1 सही है।
  • यह एक ई-कॉमर्स मोबाइल ऐप है जिसका उपयोग स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा बनाए गए उत्पादों के विपणन के लिए एक अधिक प्रभावी मंच के रूप में किया जाएगा। अतः कथन 2 सही है।
  • साथ ही eSARAS फुलफिलमेंट सेंटर का भी उद्घाटन किया गया. इन केंद्रों का प्रबंधन फाउंडेशन फॉर डेवलपमेंट ऑफ रूरल वैल्यू चेन्स (FDRVC - ग्रामीण विकास मंत्रालय और टाटा ट्रस्ट द्वारा संयुक्त रूप से गठित एक गैर-लाभकारी कंपनी) द्वारा किया जाएगा। अतः कथन 3 सही है।

5. “यह हिमालय में लगभग 4,350 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह झील प्रवासी पक्षियों के लिए प्रजनन स्थल के रूप में कार्य करती है, जिससे यह पक्षी देखने वालों के लिए स्वर्ग बन जाती है। झील के आसपास का जलग्रहण क्षेत्र मर्मोट्स और किआंग (जंगली गधे) सहित विभिन्न वन्यजीव प्रजातियों का घर है। यह एक लंबी, संकरी झील है जिसकी लंबाई लगभग 134 किलोमीटर है। यह भारत की सबसे बड़ी ऊंचाई वाली झीलों में से एक है।”

अनुच्छेद संदर्भित करता है:

(a) पैंगोंग त्सो
(b) डल झील
(c) चंद्र ताल
(d) तिलिचो झील

उत्तर: (A)

व्याख्या: पैंगोंग त्सो झील हिमालय में लगभग 4,350 मीटर (14,270 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। यह भारत से तिब्बत (चीन) तक फैला हुआ है और पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में पड़ता है। यह झील भारत और चीन के बीच एक प्राकृतिक सीमा के रूप में कार्य करती है। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) जो दोनों देशों को अलग करती है, झील के पूर्वी भाग से होकर गुजरती है। यह झील प्रवासी पक्षियों के लिए प्रजनन स्थल के रूप में कार्य करती है, जिससे यह पक्षी देखने वालों के लिए स्वर्ग बन जाती है। झील के आसपास का जलग्रहण क्षेत्र मर्मोट्स और किआंग (जंगली गधे) सहित विभिन्न वन्यजीव प्रजातियों का घर है।