रेप के मामले में भारतीय शहरों की स्थिति पर एनसीआरबी की रिपोर्ट : डेली करेंट अफेयर्स

भारत के 19 मेट्रोपोलिटन शहरों में महिलाओं के साथ बलात्कार की स्थिति पर एनसीआरबी ने अपने नए आंकड़े जारी कर दिए हैं।

इसमें कोलकाता को सबसे सुरक्षित शहर घोषित किया गया है यहां रेप केसेज की संख्या सबसे कम रही है । 2021 में पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में 11 रेप केस सामने आए।

वहीं दिल्ली में सबसे अधिक रेप केस के मामले दर्ज किए गए हैं जो देश में सर्वाधिक हैं। दिल्ली में 1226 रेप केसेज सामने आए हैं ।

Daily Current Affairs for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, BPSC, MPPSC ...

दिल्ली के बाद जयपुर की स्थिति है जहां 502 रेप केसेज रजिस्टर किए गए हैं , वहीं मुंबई में 364 केस दर्ज किए गए हैं। ये रेप केसेज आईपीसी की धारा 376 के तहत रिपोर्ट किए गए हैं ।

कोलकाता के बाद अगर सुधरी स्थिति को देखें तो तमिलनाडु के कोयंबटूर में 12 रेप कैस दर्ज किए गए हैं जबकि पटना में 30 रेप केसेज 2021 में दर्ज किए गए । मध्यप्रदेश के इंदौर में 165 रेप मामले , बेंगलुरु में 117, हैदराबाद में 116, नागपुर में 115 केस दर्ज किए गए हैं।

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2021 में देश में कुल 19 मेट्रोपॉलिटन सिटीज में 3208 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं।

इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि कोलकाता उन शहरों में शामिल है जहां अटेम्प्ट टू रेप का कोई केस दर्ज नहीं किया गया है। कोलकाता में 2019 में 14 रेप केस दर्ज किए गए थे जबकि 2020 में 11 दर्ज किए गए थे।

यह तो बात रही 19 मेट्रोपॉलिटन शहरों के संदर्भ में लेकिन अगर पूरे भारत की बात करें तो इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले साल पूरे देश भर से एक 31,677 रेप केस रिपोर्ट किए गए थे जिसमें पूरे पश्चिम बंगाल से 1123 रेप केसेज सामने आए थे।

राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप केस दर्ज किए गए जिनकी संख्या 6,337 थी जबकि नागालैंड में सबसे कम रेप केस दर्ज किए गए जिनकी संख्या 4 थी ।

एनसीआरबी की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत में 2021 में प्रतिदिन 82 लोगों की हत्याएं हुई हैं और दिल्ली अभी भी अपराध के मामले में देश का क्राइम कैपिटल बना हुआ है।